कड़वे नीम से बनाइए हेल्‍थ और निखारें सुंदरता | How Neem combat with your health and beauty problems in Hindi

नीम सिर्फ एक पेड़ का नाम नहीं है, बल्कि सेहत का भी खजाना है। लेकिन शायद ही आपको पता हो कि नीमआपके आंतरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ बाहरी सुंदरता के लिए भी बहुत फायदेमंद है। नीम आपकी मदद कर सकता है चाहे आपको पिंपल्स, ब्लैकहेड्स या फाइन लाइन्स की समस्या हो या डेंड्रफ या हेयरफॉल से परेशानी हो। नीम की पत्तियों का इस्तेमाल घरों में कई तरह से किया जाता है। लेकिन जरूरत इसके गुणों को समझने और इसका उपयोग करने की है। इसलिए आज हम आपको नीम के पत्तों के गुणों के बारे में बताने जा रहे हैं।

नीम के पानी से नहाने के फायदे |

दांतों के लिए फायदेमंद है नीम के दातुन : –

नीम के दातुन हमारे दांतों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। नीम टूथपेस्ट माउथफ्रेशनर का काम करता है, जिससे मुंह की बदबू से राहत पाई जा सकती है। इसके इस्तेमाल से हम अपने दांतों को मजबूत बना सकते हैं। इसके लिए, बाजार में मिलने वाले दातुन की बजाय नीम के पेड़ से तोड़े गए दातून का तुरंत उपयोग करना अधिक उचित है।

दांतों के लिए फायदेमंद है नीम के दातुन Ayurvedic Gyan

शुष्क त्वचा होने पर यह उपाय करें: –

यदि त्वचा बहुत सूखी है, तो नीम फेसपैक लगाएं। इसमें कुछ मॉइस्चराइजिंग तत्व होते हैं जो रूखी त्वचा को रूखे होने से बचाते हैं। थोड़ा नीम पाउडर लें और इसमें कुछ बूंदें अंगूर के तेल की मिलाएं। इसे अपने चेहरे पर लगाएं और दो से तीन मिनट के बाद इसे ठंडे पानी से धो लें। इसे हफ्ते में एक या दो बार दोहराएं और फिर फर्क देखें।

नीम त्वचा के लिए उपयोगी है: –

नीम के पत्ते त्वचा की सुंदरता को बढ़ाने में मददगार हो सकते हैं। नीम के पत्तों और हल्दी को मिलाकर पिंपल्स, पिंपल्स आदि को ठीक करने में उपयोगी है। नीम की पत्तियों को जोड़ने के बाद उबला हुआ पोनी स्किन टोनर की तरह काम करता है। इसका फेस पैक भी बनाया जा सकता है। इसके लिए थोड़े से पानी में कुछ नीम के पत्ते और संतरे के छिलके उबालें। पानी को सूखा और ठंडा करें। इसमें मुल्तानी मिट्टी, दही, शहद और दूध मिलाएं और एक नरम पेस्ट बनाएं। इसे चेहरे पर लगाएं और सूखने दें और फिर धो लें। इससे चेहरे पर ग्लो आता है और फोड़े-फुंसी, ब्लैकहेड्स आदि दूर होते हैं। यदि आपने खाना बनाते समय या किसी अन्य कारण से अपना हाथ जलाया है, तो तुरंत उस स्थान पर नीम की पत्तियों को पीस लें।

नीम के पानी से नहाने के फायदे | एलर्जी में नीम के फायदे: –

नीम के पत्तों को पानी में उबालकर इस पानी से स्नान करने से चर्म रोग में बहुत लाभ होता है। इससे त्वचा में खुजली या जलन में भी राहत मिलती है। इस पानी को पीने से पेट के कीड़े नष्ट होते हैं और आंतों की कार्यक्षमता में सुधार होता है। लेकिन किसी भी प्रकार की बीमारी होने पर बिना डॉक्टरी सलाह के नीम से बचना चाहिए। सूखे नीम के पत्तों के धुएं से मच्छर दूर भागते हैं। इनका इस्तेमाल बर्तनों में खाद डालने के लिए भी किया जा सकता है।

नीम के फायदे बालों के लिए

नीम के फायदे बालों के लिए Ayurvedic Gyan

बालों के लिए नीम के फायदे और उनका उपयोग कैसे करें

 
रूसी से छुटकारा
 
डैंड्रफ लोगों में सबसे आम समस्याओं में से एक है। आपको बता दें कि रूसी अस्वस्थ खोपड़ी का संकेत है। नीम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो खोपड़ी को नरम और रूसी मुक्त बनाता है।
कैसे इस्तेमाल करे
रूसी दूर करने के लिए नीम के पत्तों और दही का कार पेस्ट बनाएं। इसके लिए नीम की कुछ पत्तियों को पीसकर उसमें एक चम्मच दही मिलाएं और फिर इसे स्कैल्प पर लगाएं और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें। अब बालों को शैम्पू से अच्छी तरह धो लें और हफ्ते में एक बार इसे सुखाएं।

बाल लंबे करें

 
मृत त्वचा कोशिकाओं, सूरज की हानिकारक किरणों, प्रदूषण और देखभाल की कमी के कारण कई बार बाल पतले हो जाते हैं और टूटने लगते हैं। नीम का एंटीफंगल गुण बालों की रक्षा करता है और उनकी जड़ों को मजबूत करता है। इससे बाल फिर से लंबे हो जाते हैं।
कैसे इस्तेमाल करे
 
कुछ मिनट के लिए अपने स्कैल्प पर नीम के तेल से मालिश करें। एक घंटे के बाद अपने बालों को शैम्पू से धो लें। नीम का तेल खोपड़ी पर रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है और बालों को बढ़ने में मदद करता है।

नीम से होने वाले फायदे: –

  1. नीम की पत्तियों को अलमारी में रखने से कपड़ों में कीड़े नहीं पड़ते। गेहूं या चावल आदि के ड्रम या पीपे में उन्हें रखने से उनमें कीड़े लगने का डर नहीं रहता।
  2. सूखे नीम के पत्तों से तैयार खाद का प्रयोग फसल को कई प्रकार के कीटों से बचाता है।
  3. घर पर गमलों में लगाए गए पौधे पर नीम के तेल को पानी में छिड़कने से पौधे पर मौजूद कीड़े नष्ट हो जाते हैं।
  4. नीम का तेल लगाने से मांसपेशियों के दर्द और जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।
  5. नीम एक औषधि है। किसी भी दवा आदि लेने से बचने के कुछ नियम हैं अन्यथा दवा हानिकारक भी हो सकती है।
  6. अगर आपको नीम की पत्तियों का उपयोग करने के बाद उल्टी, दस्त, चक्कर आना, बेहोशी आदि के लक्षण हैं, तो इसे तुरंत बंद कर देना चाहिए।

नीम से होने वाले नुकसान

यह सच है कि नीम के कई फायदे हैं, लेकिन इसका सेवन ज़रूरत से अधिक नहीं करना चाहिए। आइये, जानते हैं कि इससे आखिर क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

1.    नीम शुगर लेवल को कम करता है, इसलिए यदि आप उपवास कर रही हैं तो नीम का सेवन नहीं करना चाहिए।

2.    अगर महिलाएं प्रेग्नेंट हैं या फिर स्तनपान करा रही हैं, तब भी उनको नीम के सेवन से बचना चाहिए।

3.    बाल धोते समय इस बात का ख़याल रखना चाहिए कि नीम आपकी आंखों में ना चला जाए, क्योंकि इससे आपकी आंख में जलन हो सकती है।

4.    नीम के ज्यादा सेवन से मुंह का स्वाद खत्म हो जाता है।

Leave a Comment